Operating System kya hai, Windows & Linux Operating System

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है Operating System kya hai, Windows vs Linux which is better in hindi, Windows vs Linux


ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है Operating System kya hai, Windows vs Linux which is better in hindi, Windows vs Linux 

 

नमस्कार दोस्तों आज के article में हम जानेंगे की ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और, कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम बेहतर है विंडो या लिनक्स यह दोनों ही बहुत ही पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्टम दुनिया में सबसे ज्यादा यूज होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज परंतु हम जानेंगे की किस प्रकार विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम से लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम बेहतर है।

  • Operating System kya hai
  • Windows Operating System in hindi
  • Linux Operating System in hindi
  • Windows Operating System vs Linux Operating System
  • Windows vs Linux in hindi


Operating System kya hai

ऑपरेटिंग सिस्टम जिसे हम छोटे रूप में OS भी कहते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच के कामों को संचार करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर और यूजर के बीच इंटरफ़ेस प्रदान करता है या फिर सीधी भाषा में यह कहे कि कंप्यूटर और  के बीच कम्युनिकेट करने का एक साधन है। और इसके लिए यूज़र को कंप्यूटर की भाषा समझने की जरूरत भी नहीं होती है। सभी कंप्यूटरों को सही तरह से काम करने के लिए वह किसी भी एप्लीकेशन को Run करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर की जरूरत है। किसी भी एप्लीकेशन को जैसे गेम्स , MS office ,फोटोशॉप किसी भी एप्लीकेशन को Run करने के लिए प्लेटफार्म या फिर माध्यम की जरूरत होती है  वह प्लेटफार्म ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान करता है , इसलिए ऑपरेटिंग सिस्टम की जरूरत होती है। बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कंप्यूटर बेकार है ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत ही छोटे छोटे प्रोग्राम का समूह होता है। और इन सब छोटे-छोटे प्रोग्रामों को एक साथ जोड़ कर सिस्टम के मेमोरी में रखा जाता है। इन्हीं प्रोग्रामों के कारण ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच कम्युनिकेट कर पाते हैं। कंप्यूटर के हार्डवेयर अपने बल पर कार्य नहीं कर सकते नाही एक दूसरे को इंटरेक्ट कर सकते हैं। इसीलिए ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा इलेक्ट्रिक सिग्नल के द्वारा अपना काम कर पाते हैं। OS कंप्यूटर में लोड होने वाला सबसे पहला प्रोग्राम होता है। वैसे तो कई प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम है पर सभी ऑपरेटिंग सिस्टम का लगभग एक जैसा काम होता है कंप्यूटर को यूजर से कम्युनिकेट करवाना। ऑपरेटिंग सिस्टम प्राइमरी मेमोरी के हर एक कार्य को ट्रैक करता है। मेमोरी का कौन सा भाग उपयोग है कौन सा भाग उपयोग में नहीं है मेमोरी कितनी यूज़ हो रही है और कितना भाग खाली है, यह सब कार्य ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा किया जाता है।


Types of operating system (ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होते हैं।)

  1. Window  OS (Operating System)
  2. MAC OS
  3. Linux OS
  4. Ubuntu OS
  5. Android OS 
  6. iOS
  7. MS DOS
  8. Symbian OS

Windows Operating System in hindi

बिल गेट्स द्वारा 20 नवंबर सन 1985 को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विंडोज नामक ऑपरेटिंग सिस्टम लांच किया। यह ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत ही सरल और यूजर फ्रेंडली ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कि दुनिया के अधिकतर लोग यूज करते हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा यूज होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज है। इसे चलाना बहुत ही आसान है उसके कमांड बड़ी आसानी से सीखे जा सकते हैं।
विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम का इतिहास।

  • Window 1.0 (1985)- MS Version 1.0
  • Window 2.0 (1987)-MS version 2.0
  • Windows 3.0 &3.1 (1990-1992)-MS version 3.0
  • Window 95 (1998)-MS version 4.1
  • Window ME(2000)-MS version 4.9
  • Window XP (2001)-MS version 5.1
  • Windows Vista (2006)-MS version 6.0
  • Windows 7 (2009)-MS version 6.1
  • Window 8/8.1 (2012-13)-MS Version 6.2 / 6.3
  • Window 10 (2015)-MS version 6.4
  • Windows 10s (2017)
  • Windows 11 (2021)

 Linux Operating System in hindi

Linux ऑपरेटिंग सिस्टम की शुरुआत 1991 में हुई थी।
Linux ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कि बिल्कुल ही फ्री है। और सिक्योरिटी के मामले में भी है ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत ही आगे निकल चुका है। यहां तक कि माइक्रोसॉफ्ट खुद Linux ऑपरेटिंग सिस्टम यूज करता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम में आपको कई सारे ऐसे फीचर्स देखने को मिल जाएंगे जो कि आपको विंडोज में नहीं देखने को मिलेंगे अगर आप डेवलपर है तो Linux ऑपरेटिंग सिस्टम को आप जरूर यूज़ करके देखें ताकि आपको खुद पता चले कि विंडो से किस प्रकार Linux ऑपरेटिंग सिस्टम बेटर है

Windows Operating System vs Linux Operating System

1. Linux ऑपरेटिंग सिस्टम फ्री और ओपन सोर्स सिस्टम है, यानी कि इसमें विंडोज कि तरह लाइसेंस लेने की जरूरत पड़ेगी नहीं। परंतु विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में आपको लाइसेंस लेना पड़ता है।

2. Linux ऑपरेटिंग सिस्टम की परफॉर्मेंस काफी बेहतर है। यह बहुत ही फास्ट है इसमें कई सारे परफॉर्मेंस में window 8, Windows 10 and Windows 11 तक को हराया है। और यह एक नहीं बहुत सारे डिस्ट्रोस में हुआ है जैसे Linuxmint ,MX linux, Ubuntu और यह इसलिए होता है क्योंकि Linux लाइटवेट होता है और लेस रिसोर्सेज भी होता है विंडोज के कंपैरिजन में

3. Linux ऑपरेटिंग सिस्टम में सिक्योरिटी बहुत ही ज्यादा मिलती है क्योंकि यह ट्रांसपेरेंट होता है। जैसे हम विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टॉल करते हैं तो उसमें हमें एंटीवायरस इंस्टॉल करना होता है। यह जरूरत हमें Linux ऑपरेटिंग सिस्टम में नहीं करना होता। इसका मुख्य कारण है कि Linux ओपन सोर्स है  इसका कोड लाखो डेवलपर्स के पास है । जोकि इसमें कोई भी error आता है तो उसे ठीक करते रहते हैं इसलिए यह सिक्योरिटी के मामले में विंडोज से कहीं ज्यादा आगे निकल गया। अगर आप कोडर या डेवलपर है तो या फिर आपने Linux की कमांड सीखें है तो आप Linux को अंदर से पूरी तरह से खोल सकते हैं उसमें क्या चल रहा है कौनसा डाटा बाहर जा रहा है कौन से डाटा अंदर आ रहा है। यह सभी आप बड़ी आसानी से एक्सप्लोर कर सकते हैं। कौन से नेटवर्क से आप कनेक्टेड है और कौन सा सिस्टम काम कर रहा है यह सब आप बड़ी आसानी से जान सकते हैं।

4. अगर आपको बिल्कुल भी टेक्निकल नॉलेज नहीं है तो आप Linux को एक नॉर्मल विंडो की  तरह भी यूज कर सकते हैं। इसके लिए आपको कोई प्रोग्रामर या डेवलपर होने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में सीखना है तो इसके अंदर छोटी से छोटी चीज भी कस्टमाइजेबल होती है इसे आप अपने हिसाब से कस्टमाइज कर सकते हैं। अगर आप ऑपरेटिंग सिस्टम को एक बिगनर्स की तरह सीख रहे हैं तो Linux आपको वह Tool प्रदान करेगा जिससे आप बहुत ही आसानी से ऑपरेटिंग सिस्टम सीख सकते हैं  कि वह कैसे काम करता है किस प्रकार का डाटा आता है किस प्रकार जाता है सभी बढ़िया तरह से सीख सकते हैं। अगर हम विंडोस पर कुछ चीज डाउनलोड करते हैं तो सिंपली हमें वहां पर एक डाउनलोड बटन दिखाई देता है परंतु Linux में ऐसा नहीं वहां पर हमे सिखाया जाता है कि किस प्रकार पैकेजेस को इंस्टॉल किया जाता है प्रकार डाउनलोड किया जाता है। अगर आपको हैकिंग में या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में आपका इंटरेस्ट है तो आपको लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम यूज करना चाहिए। ताकि आप उसमें ज्यादा चीजें एक्सप्लोर और एक्सपेरिमेंट कर पाए।

5. Linux एक बैटर ऑपरेटिंग सिस्टम है क्योंकि उसके जो कम्युनिटी और सपोर्ट अगर आप नए-नए Linux यूसर है या फिर नए-नए डेवलपर है तो शायद ही कोई ऐसा आपका डाउट होगा जो कि सॉल्व ना हो पाए क्योंकि यहां पर दुनिया भर के डेवलपर्स एक साथ काम करते हैं और कई सारे पोस्ट लिखते हैं।  लिनक्स के लिए एक लिनक्स फाउंडेशन है जो कि एक नॉन प्रॉफिटेबल ऑर्गेनाइजेशन है जिसका aimm सिर्फ इतना है कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों तक Linux को पहुंचा सके उसको स्टैंडर्ड राइड रखें और साथ के साथ उसको फ्री रखें और टेक्निकल एडवांस रखें दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम के मामले में। और इस ऑर्गेनइजेशन की सबसे खास बात यह है कि इसके बोर्ड मेंबर्स बहुत रिपोटेड कंपनी से आते हैं जैसे फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट, इंटेल, सैमसंग और भी बहुत सारी बड़ी-बड़ी कंपनियों से आते हैं।

यह थे मुख्य कारण Windows Operating System ,Linux Operating System  क्यों बेहतर है।
“आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई है धन्यवाद!”

Leave a Comment